समर्थक

मंगलवार, 27 मार्च 2012

सफलता का मंत्र...



बुधवार को बोलें यह गणेश मंत्र, निश्चित बढऩे लगेगी आपकी साख व सफलता

===============================================

किसी भी काम में समर्पण, अनुभव और प्रयोग द्वारा दक्षता या विशेषज्ञता हासिल कर ही कोई व्यक्ति पहचान और प्रतिष्ठा पा सकता है। इस खूबी के बूते ही सफलता के नए-नए मुकाम छूना संभव है। ऐसी विलक्षणता तभी संभव है जब बुद्धि की पवित्रता, मन और विचारों की एकाग्रता बनाए रखी जाए। 

हिन्दू धर्म में ऐसा करने के लिए कर्म का महत्व तो बताया ही गया है, साथ ही धार्मिक उपायों में भगवान गणेश की भक्ति को भी मंगलदायी बताया गया है। श्री गणेश बुद्धि द्वारा सर्वसिद्धि प्रदान करने देवता माने गए हैं। सरल शब्दों में भगवान गणेश की प्रसन्नता इंसान को हुनरमंद बनाने वाली मानी गई है। 

शास्त्रों में श्री गणेश की ऐसी ही कृपा के लिए बुधवार के दिन विशेष मंत्रों से पूजा व स्मरण बहुत ही शुभ माना गया है। जानते हैं ऐसा ही मंत्र व पूजा विधि- 

- बुधवार को सुबह स्नान के बाद भगवान श्रीगणेश की मूर्ति को पंचामृत स्नान कराएं। लाल चंदन, लाल फूल, अक्षत, दूर्वा, सिंदूर चढ़ाकर गुड़ या मिश्री के लड्डू का भोग लगाकर नीचे लिखे गणेश मंत्र का चंदन की माला से कार्य कुशलता व सफलता की कामना के साथ कम से कम ११ बार या अधिक से अधिक जप करें - 

ओंकारसंनिभमिभाननमिन्दुभालं

मुक्ताग्रबिन्दुममलद्युतिमेकदन्तम्।

लम्बोदरं कलचतुर्भुजमादिदेवं

ध्यायेन्महागणपतिं मतिसिद्धिकान्तम्।।

या ऊँ दक्षाय नम: इस छोटे-से मंत्र का भी स्मरण कर सकते हैं। 

- इस मंत्र व पूजा के बाद श्रीगणेश के आरती धूप, दीप से कर विघ्र रक्षा के साथ क्षमाप्रार्थना करें।

नीलकमल वैष्णव"अनिश"

गुरुवार, 15 मार्च 2012

शत् शत् नमन स्व.राहुल शर्मा जी को विनम्र श्रद्धांजली...


एसपी स्व. राहुल शर्मा की खुदकुशी के दो दिनों बाद उनके पिता, पत्नी व परिजन खुलकर सामने आए। परिजनों ने उनकी मौत के पीछे पुलिस सिस्टम को दोषी माना है, साथ ही इस मामले में एफआईआर दर्ज करने की मांग शासन से की है। शर्मा के पिता आरके शर्मा ने राज्य शासन द्वारा सीबीआई जांच की घोषणा को सही ठहराया है।

उन्होंने यह भी कहा कि न्याय मिलने तक उनकी लड़ाई जारी रहेगी। वे मानवाधिकार आयोग से भी पूरे मामले की शिकायत करेंगे। दिवंगत एसपी की पत्नी जी.गायत्री शर्मा ने कहा कि सिस्टम में समय रहते सुधार लाना चाहिए, ताकि भविष्य में कोई अधिकारी या कर्मचारी इसका शिकार न बने। वहीं दो दिन बाद भी उनका लैपटाप नहीं मिला।
एसपी राहुल शर्मा के दादा 90 वर्षीय बसंतराम शर्मा ने कहा कि करीब 8-10 दिनों पहले उनकी अपने पोते से बात हुई थी। इस दौरान उन्होंने बताया था कि विभाग के सीनियर अफसर उन्हें काम करने नहीं दे रहे हैं। इससे वे काफी परेशान हैं। उन्होंने पोते की मौत के लिए विभाग के वरिष्ठ अफसर को दोषी करार दिया है। उन्होंने मांग की कि जो भी अधिकारी दोषी है, उसे तत्काल निलंबित कर उसके खिलाफ जुर्म दर्ज किया जाए।
ताकि कोई और शिकार न हो : गायत्री
राहुल की पत्नी जी. गायत्री शर्मा ने पत्रकारों से कहा कि उनके पति सिस्टम के शिकार हुए हैं। वे जब से बिलासपुर आए थे, तब से उन्हें काम करने नहीं दिया जा रहा था। इससे वे बेहद परेशान थे। भविष्य में कोई अधिकारी या कर्मचारी डिप्रेशन में आकर ऐसा कोई कदम न उठाए, इसके लिए पुख्ता जांच और कार्रवाई की जानी चाहिए।
उनके पति ने अपने काम में दखल को लेकर कई बार उच्चधिकारियों से भी की थी,लेकिन ध्यान नहीं दिया गया। एसपी को आशंका थी, गायब हो जाएगा नोट, आमतौर पर सुसाइड नोट लिखने वाला व्यक्ति उसे मृत्यु पूर्व जेब व ऐसी जगह छोड़ जाता है, जहां पुलिस या परिजनों की तत्काल नजर पड़ जाए। शर्मा को शायद आशंका थी कि बाहर होने पर उनका सुसाइड नोट गायब हो जाएगा। इसीलिए उन्होंने इसे अपने ब्रीफकेस में रखना मुनासिब समझा होगा।

संकलनकर्ता:- ब्लागर नीलकमल वैष्णव"अनिश"
:- सौजन्य(चित्र और लेख) केलो प्रवाह, देशबंधु, नवभारत और दैनिक भास्कर

शनिवार, 3 मार्च 2012

थिंक हट के...


कोई रूठे यहाँ तो कौन मनाने आता है 
रूठने वाला खुद ही मान जाता है, 
ऐ अनिश दुनियां भूल जाये कोई गम नहीं 
जब कोई अपना भूल जाये तो रोना आता है...
जब महफ़िल में भी तन्हाई पास हो 
रौशनी में भी अँधेरे का अहसास हो, 
तब किसी कि याद में मुस्कुरा दो 
शायद वो भी आपके इंतजार में उदास हो...
फर्क होता है खुदा और पीर में 
फर्क होता है किस्मत और तक़दीर में 
अगर कुछ चाहो और ना मिले तो 
समझ लेना कि कुछ और अच्छा है हाथो कि लकीर में.
नीलकमल वैष्णव"अनिश"
०९६३०३०३०१०, ०७५६६५४८८००